aapkikhabar
aapkikhabar
Aapkikhabar

आप की खबर

बृहस्पतिवार को क्यों है हिन्दू धर्म मे कपड़े धुलने की मनाही




बृहस्पतिवार को क्यों है हिन्दू धर्म मे कपड़े धुलने की मनाही

Jupiter



2019-05-16 10:09:41
: आपकी खबर.कॉम

ज्योतिष डेस्क -गुरुवार का दिन, ब्रह्मा, बृहस्पति और Jupitor विष्णु पूजा का दिन है। आज के दिन पीले रंग का विशेष महत्व होता है। पीले वस्त्र पहनने से शुभता का आगमन होता है, सुबह उठकर नहा धोकर पूजा पाठ करने से व्यक्ति को लाभ होता है। परिवार से जुड़ी सभी समस्याओं का अंत होता है साथ ही लक्ष्मी जी की विशेष कृपा प्राप्त होती है। ज्योतिषाचार्य पंडित दयानन्द शास्त्री जी से जानिए वे उपाय, जिन्हें अपनाकर प्रभु की विशेष कृपा पा सकते हैं।




बृहस्पतिवार अत्यंत शुभ दिन माना जाता है, इसलिए इस दिन बहुत सारे काम किए जा सकते हैं। धार्मिक दृष्टिकोण से देखा जाए तो देवगुरु बृहस्पति का बहुत बड़ा स्थान माना गया है और यदि हम ब्रह्मांड की बात करे तो नौ ग्रहों में बृहस्पति ग्रह को सबसे भारी माना गया है।




यही कारण है कि जिन कार्यों को इस दिन करने से घर में हल्कापन आता है, उन्हें धार्मिक दृष्टि से वर्जित माना गया है, क्योंकि इन कार्यों को करने से गुरु कमजोर होता है। बृहस्पति को धर्म एवं शिक्षा का भी कारक माना गया है। ऐसा करने पर शिक्षा में असफलता मिलती है और धर्म के प्रति भी रुझान कम होता जाता है।
इस दिन देव गुरु बृहस्पति और भगवान् विष्णु की पूजा की जाती है। ज्योतिर्विद पण्डित दयानन्द शास्त्री ने बताया कि ब्रह्मांड के सभी नौ ग्रहों में से गुरु (बृहस्पति) सबसे भारी ग्रह है। गुरुवार से जुड़े हमारे ग्रंथो में कई तरह की मान्यतायें दी गयी हैं। गुरु धर्म व शिक्षा का कारक ग्रह है। गुरु ग्रह को कमजोर होने से शिक्षा में असफलता मिलती है। साथ ही धार्मिक कार्यों में रूचि कम होती है।




हमारे जीवन में गुरुवार Jupitor का बहुत महत्व है। भगवान विष्णु की कथा अनुसार ऐसे कोई कार्य नहीं करने चाहिए जिससे आपके जीवन में दुःख, और परेशानियां आये। इस दिन ऐसा कोई काम नहीं करना चाहिए जिससे कि शरीर या घर में हल्कापन आता हो।




बृहस्पतिवार को लक्ष्मी नारायण जी का वार भी माना जाता है। इस दिन वर्जित काम करने से लक्ष्मी और नारायण दोनों ही रुष्ट हो सकते हैं, इसलिए बृहपतिवार को कुछ वर्जित कार्यों को करने बचना चाहिए।
जानिए क्या करें गुरुवार को विशेष उपाय ताकि हो धन लाभ--




यदि आपकी तनख्वाह किसी महीने में गुरुवार को आए या फिर आपको इस दिन अधिक धन का लाभ हो तो धनराशि में से 15, 30, 45 या 60 के अनुपात में मिले हुए धन एक लिफाफा बनाकर मंदिर में रख दें। भगवान से प्रार्थना करें कि आप पर धन की वर्षा यूं ही होती रहे और आपके कष्ट दूर होते रहेंगे। एक दिन बाद इन लिफाफों से पैसे निकालकर इसका 10 फीसदी दान करें और बाकी खर्च कर लें।




जानिए गुरुवार को क्या खरीदें?




भगवान बृहस्पति का दिन है गुरुवार, ये दिन व्यक्ति के जीवन में शुभता लाता है। गुरुवार के दिन इलेक्ट्रॉनिक सामान खरीदा जा सकता है, प्रॉपर्टी से जुड़े कामों में फायदा होता है। इस दिन पूजा–पाठ से जुड़ा सामान नहीं खरीदना चाहिए। आंखों से जुड़ी कोई भी वस्तु, कोई शार्प ऑब्जेक्ट जैसे चाकू, कैंची, बर्तन आदि नहीं खरीदना चाहिए।




भूलकर भी नही करें गुरुवार को ये काम---




शास्त्रानुसार गुरु ग्रह किसी भी महिला की कुंडली में पति और संतान का कारक माना जाता है। अर्थात बृहस्पति ग्रह महिलाओं के जीवन में पति और संतान दोनों के जीवन को प्रभावित करता है। जो महिलाएं इस दिन बाल धोती हैं या फिर हेयर कट करवाती हैं उनका बृहस्पति कमजोर होता है, पति और संतान की उन्नति में बाधा आती है। महिलाओं को इस दिन अपने बाल ना तो धोने चाहिए और ना ही काटने चाहिए।




जानिए क्यों हैं गुरुवार को कपड़े धोने की मनाही---




गुरुवार को महिलाएं कपड़े धोने से बचें। ये दिन बृहस्पति ग्रह का परिचायक है। इस दिन कपड़े धोने से आर्थिक नुकसान होता है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन घर की स्त्री साबुन से वस्त्रों का मैल धोती है तो इसके साथ घर की समृद्धि भी पानी के साथ धुल जाती है। इस दिन कपड़े धुलने से बचे, कपड़ों को पानी में खंगाल सकती हैं नहीं तो अगले दिन धो लें। ​दिन घर में पोंछा नहीं लगाना चाहिए और न ही घर में उस जगह की सफाई करनी चाहिए, जहां रोजाना सफाई न होती हो। वास्तुशास्त्र के अनुसार ईशान कोण का स्वामी गुरु होता है और ईशान कोण का संबंध बच्चों से होता है। इसलिए इस दिन कबाड़ निकालने, जाले साफ करने, फर्श धोने से ईशान कोण कमजोर होता है। इसका विपरित प्रभाव बच्चों एवं गृह स्वामी पर पड़ता है।
ये कुछ जरूरी बाते हैं जिनका ध्यान आपको गुरुवार के दिन रखना चाहिए ।

गुरुवार को लक्ष्मी पूजा का विशेष प्रावधान--




गुरुवार को लक्ष्मी पूजा का विशेष प्रावधान है। नारायण और उनकी पत्नी लक्ष्मी आपके घर में सदैव विराजमान हों, सुख समृद्धि की घर में वर्षा होती रहे इसके लिए जरूरी है इस दिन सुबह सवेरे उठकर लक्ष्मी जी की पूजा करें। उन्हें लाल पुष्प अर्पित करें। लक्ष्मी और नारायण की साथ में पूजा करने से दांपत्य जीवन में सुख बना रहता है। घर में धन-धान्य की कोई कमी नहीं होती है।

हल्दी स्नान से कैसे होगा लाभ..




बृहस्पति ग्रह का संबंध पीले रंग से माना जाता है। इस दिन पीले रंग के वस्त्र पहनने से शुभता आती है। हल्दी का उपाय इस दिन जरूर करना चाहिए ये बड़ा ही आसान है। अपने स्नान के पानी में एक चुटकी हल्दी डालें और बृहस्पति को याद करते हुए नहा लें। स्नान के बाद हल्दी या केसर का तिलक लगाएं। आपका दिन मंगलमयी होगा साथ ही समस्याएं भी पास नहीं फटकेंगी।




जानिए क्यों गुरुवार को बचें लेन-देन से...




गुरुवार के दिन लेन-देन करने की मनाही होती है। इस दिन ना तो किसी को पैसे देने चाहिए और ना ही किसी से पैसे लेने चाहिए। ऐसा करने से कर्ज चढ़ने की संभावना रहती है। अगर बहुत जरूरी हो तो दोपहर के बाद या संध्या के समय पैसों का लेन-देन कर सकते हैं, वैसे कोशिश करें इस दिन इससे बचे रहें।
गुरुवार को साबुन लगाकर कपड़े धोने से भी गुरु कमजोर होता है। इसलिए इस दिन साबुन लगाकर कपड़े नहीं धोने चाहिए।
इस दिन पुरुषों को दाढ़ी भी नहीं बनानी चाहिए। ऐसा करने से गुरु कमजोर होता है और जीवन में बाधाएं उत्पन्न करता है। इस दिन नाखून भी नहीं काटने चाहिए।
आंखों से जुड़ी कोई भी वस्‍तु, कोई शार्प ऑब्‍जेक्‍ट जैसे चाकू, कैंची, बर्तन आदि इस दिन नहीं खरीदना चाहिए।




हर गुरुवार को गुरु के प्रथम चौघडिया में और गुरु की होरा में ,सूर्योदय के प्रथम घंटे के अंदर नाखून काटने से उस सप्ताह में लाभ मिलता है।




हर गुरुवार को सूर्योदय के प्रथम घंटे में मस्तक पर हल्दी का साधारण लेप करके स्नान करने तक रखने से अवश्य लाभ होता है।




ये ग्रह Jupiter  का शुभत्व इतना है कि हर शुभकार्य में उसका बलाबल देखा जाता है।




-





Load more...

Load more...